PPF-Sukanya New Interest Rate : पीपीएफ-सुकन्या जैसी छोटी बचत योजनाओं पर सरकार का फैसला, चेक करें ब्याज दर

PPF-Sukanya New Interest Rate पीपीएफ-सुकन्या जैसी छोटी बचत योजनाओं पर सरकार का फैसला, चेक करें ब्याज दर : केंद्र सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड ( PPF ) और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट ( NSC ) जैसी छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों ( Small Saving Schemes Interest Rates ) में कोई बदलाव नहीं किया है. जुलाई से सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दरें स्थिर हैं। केंद्र सरकार ने सार्वजनिक भविष्य निधि ( PPF ), सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) और राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र ( NSC ) जैसी छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. इसका मतलब है कि जुलाई से सितंबर तिमाही के लिए ब्याज दरें समान रहेंगी।

PPF-Sukanya New Interest Rate

"<yoastmark

यह लगातार नौवीं तिमाही है जब छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों ( Small Saving Schemes Interest Rates ) में कोई बदलाव नहीं किया गया है। 2020-21 की पहली तिमाही के बाद से ब्याज दर को संशोधित नहीं किया गया है। बता दें कि छोटी बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरें तिमाही आधार पर तय की जाती हैं। ब्याज दरों पर फैसला वित्त मंत्रालय लेता है।

PPF-Sukanya New Interest Rate: किस योजना पर मिल रहा है कितना ब्याज

केंद्र सरकार लड़कियों के लिए सुकन्या स्मृति योजना ( Sukanya Samriddhi Yojana ) पर 7.6 फीसदी सालाना की दर से ब्याज दे रही है. वहीं, पीपीएफ ( PPF ) पर 7.1 फीसदी सालाना की ब्याज दर है। इसके अलावा नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट ( NSC ) पर 6.8 फीसदी का ब्याज मिलता है।

वहीं, पांच वर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना ( SCSS ) की बात करें तो इसमें 7.4 प्रतिशत ब्याज दिया जा रहा है। बचत जमा पर ब्याज दर 4% प्रति वर्ष बनी हुई है। इसी तरह एक साल की सावधि जमा योजना ( Fixed Deposit Scheme ) पर ब्याज दर 5.5 प्रतिशत पर बनी रहेगी।

आपको बता दें कि पोस्ट ऑफिस आरडी ( Post Office RD ) के अलावा सरकार की छोटी बचत योजनाओं में पीपीएफ ( PPF ), किसान विकास पत्र ( KVP ), सुकन्या समृद्धि ( SSY ) आदि शामिल हैं।

पीपीएफ, एसएसवाई सहित डाकघर बचत योजनाओं पर वर्तमान ब्याज दरें

यहां पोस्ट ऑफिस बचत योजनाओं ( Small Saving Schemes Interest Rates ) पर वर्तमान ब्याज दरें हैं, जो इस साल 1 अप्रैल से लागू हुई हैं और आज यानी 30 जून तक वैध रहेंगी।

  • सार्वजनिक भविष्य निधि: 7.1 प्रतिशत
  • राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र: 6.8 प्रतिशत
  • सुकन्या समृद्धि योजना: 7.6 प्रतिशत
  • किसान विकास पत्र: 6.9 प्रतिशत
  • बचत जमा: 4 प्रतिशत
  • 1-वर्ष की सावधि जमा: 5.5 प्रतिशत
  • 2-वर्षीय सावधि जमा: 5.5 प्रतिशत
  • 3-वर्षीय सावधि जमा: 5.5 प्रतिशत
  • 5 साल की सावधि जमा: 6.7 प्रतिशत
  • 5 वर्ष आवर्ती जमा: 5.8 प्रतिशत
  • 5 वर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना: 7.4 प्रतिशत
  • 5 वर्षीय मासिक आय खाता: 6.6 प्रतिशत

डाकघर ब्याज दरों की गणना

गोपीनाथ समिति ने 2011 में लघु बचत ब्याज दरों ( Small Saving Schemes Interest Rates ) की गणना के लिए एक सूत्र निर्धारित किया था। सूत्र के अनुसार, ये दरें समान अवधि के लिए सरकारी प्रतिभूतियों द्वारा प्रदान की गई औसत प्रतिफल की तुलना में 25-100 आधार अंक अधिक होनी चाहिए। पिछले एक साल में 10 साल के बॉन्ड यील्ड में 140 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी हुई है, जो 6.04 फीसदी से बढ़कर 7.46 फीसदी हो गया है, जिसमें अप्रैल-जून तिमाही की औसत दर 7.31 फीसदी है। गोपीनाथ समिति की सिफारिशों के अनुसार, पीपीएफ दरों ( PPF Rates ) को बढ़ाकर 7.81 प्रतिशत किया जाना चाहिए, जबकि सुकन्या समृद्धि योजना ( SSY ) और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना ( SCSS ) में 8 प्रतिशत से अधिक ब्याज देना चाहिए। हालांकि सरकार इस फॉर्मूले के हिसाब से दरों में बढ़ोतरी नहीं कर सकती है।

यह भी जाने :- Aadhaar-PAN Link Penalty Doubled : अब आधार-पैन लिंक कराने पर लगेगा हर महीने दोगुना जुर्माना, जानिए डिटेल्स

PPF Amount : मृत व्यक्ति के PPF खाते का क्या होता है? पैसा किसे मिलता है? दावा कैसे किया जाता है? जानिए

LPG Subsidy New Rules : सरकार ने जारी किया नया एलपीजी सब्सिडी नियम, जानिए अब किसे मिलेगी सब्सिडी

Sandalwood Cultivation Business : नौकरी के साथ शुरू करें ये बिजनेस, हर साल कमाएं करोड़ों

Leave a Comment