Budget 2021 : सरकार ने इन खास योजनाओं के लिए बढ़ाए फंड, सभी को मिलेगा दुगना फायदा, देखे यहाँ

Budget 2021 सरकार ने इन खास योजनाओं के लिए बढ़ाए फंड, सभी को मिलेगा दुगना फायदा, देखे यहाँ : कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय को रुपये (Rupees) का बजट आवंटित किया गया है। वर्ष 2021-22 के लिए 1,31,531 करोड़ यानि 5.63 प्रतिशत अधिक और आधा प्रधानमंत्री-किसान योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana) पर खर्च किया जाएगा, जबकि कृषि-बुनियादी ढांचा निधि और सिंचाई कार्यक्रमों के लिए धन की उपलब्धता में मामूली वृद्धि हुई है।

Budget 2021 : सरकार ने इन खास योजनाओं के लिए बढ़ाए फंड, सभी को मिलेगा दुगना फायदा, देखे यहाँ

"<yoastmark

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा संसद में पेश किए गए बजट 2021-22 के अनुसार, चालू वित्त वर्ष 2020-21 के लिए कृषि मंत्रालय का संशोधित बजट 1,24,519 करोड़ रुपये (Rupees) रहने का अनुमान है। अगले वित्तीय वर्ष के लिए मंत्रालय को किए गए कुल आवंटन में से 1,23,017.57 करोड़ रुपये कृषि और किसान कल्याण विभाग को और 8,513.62 करोड़ रुपये कृषि अनुसंधान और शिक्षा विभाग को दिए गए हैं।

Advertisement

बजट दस्तावेज के अनुसार, चालू वित्त वर्ष 2021-22 में 10 केंद्रीय योजनाओं के लिए आवंटन को मामूली बढ़ाकर 1,05,018.81 करोड़ रुपये कर दिया गया है, जो चालू वित्त वर्ष के संशोधित अनुमान 1,03,162.30 करोड़ रुपये से थोड़ा अधिक है। प्रमुख केंद्रीय योजनाओं में पीएम-किसान (PM Kisan) के लिए 65,000 करोड़ रुपये का बड़ा आवंटन किया गया है, जिसके तहत सरकार पंजीकृत किसानों को तीन समान किश्तों में 6,000 रुपये प्रदान करती है।

Budget 2021

प्रधानमंत्री अन्नदाता आय संवर्धन योजना (PM – ASHA) के लिए आवंटन अगले वित्तीय वर्ष के लिए बढ़ाकर 1,500 करोड़ रुपये कर दिया गया है जो संशोधित अनुमान के अनुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 996 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। इसी तरह, 10,000 किसान उत्पादक संगठनों (PM Kisan FPO Yojana) के गठन और प्रचार के लिए आवंटन 250 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 700 करोड़ रुपये कर दिया गया है, जबकि कृषि (Agriculture) अवसंरचना कोष को 208 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 900 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

दस केंद्रीय योजनाओं के अलावा, सरकार ने नियामक और स्वायत्त निकायों के लिए भी धन आवंटित किया है। इसके अलावा, सरकार ने 18 केंद्र प्रायोजित योजनाओं के लिए धन आवंटित किया है, जिसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कार्यान्वयन के लिए धन दिया जाता है। उदाहरण के लिए, प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) के लिए आवंटन – ‘प्रति बूंद अधिक फसल’ को वर्ष 2020-21 के लिए 2,563 करोड़ रुपये के संशोधित अनुमान से बढ़ाकर 4,000 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

इन योजनाओं को दिया फण्ड

अन्य संबंधित मंत्रालयों के लिए, सरकार ने चालू वित्त वर्ष के लिए 3,918.31 करोड़ रुपये के संशोधित अनुमान से मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के लिए आवंटन को बढ़ाकर 4,820.82 करोड़ रुपये कर दिया है। दस्तावेज़ में कहा गया है कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय के लिए आवंटन को भी वर्ष 2021-22 के लिए पहले के 1,247.42 करोड़ रुपये से मामूली रूप से बढ़ाकर 1,308.66 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

यह भी देखे – Sukanya Samriddhi Yojana : 1 रुपये’ की बचत कर बनाएं बेटी का लखपति, जानिए कब निकाल सकते हैं पैसे देखे

– PM Kisan Rules Change : पीएम किसान योजना के नियमों में बदलाव, अब इन किसानों को ही मिलेगी नकद राशि