Pearl Farming Business 2022 : मोती की खेती में है कम लागत में ज्यादा मुनाफा, जानिए सम्पूर्ण जानकारी

Pearl Farming Business 2022 : बाजार में मोतियों की उत्कृष्ट मांग के कारण भारत में सबसे अच्छे जलीय कृषि व्यवसायों में से एक है ! मोती की खेती ( Pearl Farming ) का व्यवसाय कौन शुरू कर सकता है ! वैसे कोई भी जो अपना समय सीप संस्कृति के लिए समर्पित करके लाभ कमाने में रुचि रखता है ! स्थानीय और निर्यात बाजारों में मोतियों की काफी मांग है ! आप अन्य मछली पालन ( Fish Farming ) या किसी एक्वाकल्चर व्यवसाय के साथ-साथ मोती की खेती कर सकते हैं ! मसल्स की आदर्श एक्वाकल्चर प्रथाओं के तहत, व्यावसायिक मोती की खेती से अच्छा रिटर्न प्राप्त किया जा सकता है !

Pearl Farming Business 2022

Pearl Farming Business 2022

Pearl Farming Business 2022

मोती की लाभदायक खेती ( Profitable Pearl Farming ) के लिए सबसे अनुकूल मौसम शरद ऋतु है यानी अक्टूबर से दिसंबर तक ! मोतियों की खेती का व्यवसाय कम से कम 10 x 10 फीट या उससे बड़े तालाब में की जा सकती है ! मोती की खेती के लिए 0.4 हेक्टेयर जैसे छोटे तालाब में अधिकतम 25000 सीपों से मोती का उत्पादन किया जा सकता है ! मोती की खेती शुरू ( Start Pearl Farming ) करने के लिए तालाबों, नदियों आदि से सीपों को इकट्ठा करना पड़ता है या उन्हें बाजार से भी खरीदा जा सकता है !

Advertisement

ऐसे करे इसकी खेती

इसकी खेती के बिज़नेस के शुरू ( Start Pearl Farming Business ) में प्रत्येक छोटे ऑपरेशन के बाद, प्रत्येक सीप में 4 से 6 मिमी व्यास के सरल या डिज़ाइन किए गए मनके जैसे गणेश, बुद्ध, फूलों की आकृतियाँ आदि डाले जाते हैं ! फिर सीप बंद कर दिया जाता है ! इन सीपों को 10 दिनों के लिए एक एंटीबायोटिक और प्राकृतिक आहार पर नायलॉन बैग में रखा जाता है ! इनका प्रतिदिन निरीक्षण किया जाता है और मृत सीपों को हटा दिया जाता है !

अब इन सीपों को तालाबों में फेंक दिया जाता है ! इसके लिए उन्हें बांस या बोतलों का उपयोग करके नायलॉन बैग (प्रति बैग दो सीप) में लटका दिया जाता है और एक मीटर की गहराई पर तालाब में छोड़ दिया जाता है ! मोती की खेती ( Pearl Farming ) में इन्हें 20 हजार से 30 हजार सीप प्रति हेक्टेयर की दर से पाला जा सकता है ! अंदर से आने वाली सामग्री मनके के चारों ओर जमने लगती है जो अंततः मोती का रूप धारण कर लेती है ! लगभग 8-10 महीने के बाद सीप को काट कर मोती निकाल दिया जाता है !

मोती की खेती के लाभ

मोती की खेती का व्यवसाय ( Pearl Farming Business ) एक ऐसा व्यवसाय है जो आपको अन्य लोगों से अलग करता है ! यह बिजनेस वही लोग कर सकते हैं ! जो कुछ अलग करना चाहते हैं !

  1. एक एकड़ पारंपरिक खेती से 50000/- और मोती की खेती से 8-10 लाख का लाभ कमा सकता है !
  2. तालाब में बहुउद्देशीय योजनाओं का लाभ उठाकर 8-10 प्रकार के व्यवसाय कर आय में वृद्धि !
  3. जमीन में जल स्तर बढ़ाकर सरकार की मदद !
  4. बचे हुए माल से हस्तशिल्प उद्योग को बढ़ावा देना !
  5. यदि इस लाभदायक व्यवसाय ( Profitable Pearl Farming Business ) में महिला वर्ग आता है तो अधिक लाभ होता है ! क्योंकि मोती के आभूषणों के साथ-साथ मोती की माँ का भी लाभ उठाया जा सकता है !

मोती की खेती की लागत (Pearl Farming Business 2022)

एक सीप की कीमत करीब 20 से 30 रुपये कम होती है ! बाजार में 1 मिमी से 20 मिमी के सीप मोती की कीमत लगभग 300 रुपये से 1500 रुपये है ! आजकल डिजाइनर मोती बहुत पसंद किए जा रहे हैं, जिनकी बाजार में अच्छी कीमत मिलती है ! मोती की खेती के शुरू बिज़नेस ( Start Pearl Farming Business ) में भारतीय बाजार की तुलना में मोतियों को विदेशी बाजार में निर्यात करके काफी बेहतर पैसा कमाया जा सकता है !

कस्तूरी से मोती निकालने के बाद सीप को भी बाजार में बेचा जा सकता है ! कस्तूरी से कई सजावटी सामान बनाए जाते हैं ! कन्नौज में सीपों से इत्र के तेल का निष्कर्षण भी बड़े पैमाने पर किया जाता है ! जिससे स्थानीय बाजार में भी सीप को तुरंत बेचा जा सकता है ! इस बिज़नेस ( Pearl Farming Business ) में सीपों से नदियों और तालाबों के पानी को भी शुद्ध किया जाता है ! जिससे जल प्रदूषण की समस्या से काफी हद तक निपटा जा सकता है !

यह भी जाने :- New Business Idea : 2 लाख रुपये में शुरू करें नमकीन का बिजनेस, हर महीने होगी मोटी कमाई

Top Business For Women : महिलाएं घर बैठे कर सकती हैं लाखों की कमाई, शुरू करे ये बिज़नेस

Banana Wafer Business : नौकरी से ज्यादा मुनाफ़ा देगा केला चिप्स का बिजनेस, पढ़िए कैसे करें शुरू

Join Whatsapp Group : सभी लेटेस्ट जानकारी के लिए Whatsapp Group से जुड़े